मोटू पतलू कार्टून एपिसोड 38 – मेला

मोटू पतलू कार्टून

मोटू पतलू कार्टून एपिसोड 38 – मेला

मोटू पतलू कार्टून में हम मोटू और पतलू की जोड़ी और मेले की कहानी पढ़ेंगे.साथ ही साथ हम मोटू पतलू फुल एचडी वीडियो भी देखेंगे.

नोट :- इस कहानी का वीडियो देखने के लिए पोस्ट के निचे “Watch Video Now” की बटन पर क्लीक कीजिए.वीडियो का आनंद लेने के लिए Chrome ब्राउज़र का इस्तेमाल करे !

कहानी की शुरुआत – मोटू पतलू कार्टून

मोटू और पतलू की जोड़ी सबेरे सबेरे चायवाले के पास जाते है.उन्हें आता देख चायवाला एक प्लान बनाता है. मोटू चायवाले से पूछता है,”कैसे हो चायवाले भैया”.चायवाला कहता है,”आप जैसे दोस्तों की वजह से ठीक है खुश है.”चायवाले को इतने प्यार से बात करता देख पतलू को शक हो जाता है.वो मोटू को कहता है की यहाँ कुछ गड़बड है चलो यहासे.लेकिन मोटू पतलू की बात नही सुनता.


यह भी पढ़िए:-


चायवाला मोटू को बैठने के लिए कहता है.मोटू बैठने ही वाला होता है की तभी चायवाला उसे रोकता है और कहता है की जरा खुर्सी साफ कर लु फिर आप बैठो.मोटू के लिए चायवाला खुर्सी साफ करता है.खुर्सी साफ होते ही मोटू खुर्सी पर बैठने लगता है.मोटू खुर्सी पर बैठने वाला होता है की इतने में चायवाला गरम गरम तवा खुर्सी पर रख देता हे.मोटू तवे पर बैठ जाता है. मोटू का पिछवाड़ा जल जाता है और वो चिल्लाकर हवा में उड़ जाता है.

डॉक्टर झटका और घसीताराम की एंट्री – मोटू पतलू कार्टून

मोटू के हवा में उड़ने के बाद चायवाला पतलू से कहता है की आओ आप बैठो.लेकिन पतलू वह से भाग जाता है.उतने में वहा पर डॉक्टर झटका और घसीताराम पोहंच जाते है.डॉक्टर झटका पतलू से पूछता है की मोटू कहा गया.तभी मोटू हवा से झटका और घसीताराम के ऊपर गिर जाता है.झटका मोटू से पूछता है की तूम ऊपर क्या कर रहे थे.मोटू झटका को चायवाले की करतूत बताता है.



बिचारे मोटू की बात सुन डॉक्टर झटका अपना एक गैजेट निकालता है और मोटू से कहता है की,इस लॉकेट के मदत से हम किसी को भी वष में कर सकते है.सब लोग उस लॉकेट को लेकर चायवाले के पास जाते है.मोटू लॉकेट की मदत से चायवाले को वष कर लेता है और खूब समोसे खाता है.इस लॉकेट के बारे में नंबर वन और नंबर टू को पता चल जाता है.दोनों जॉन द डॉन को फ़ोन करते है.

जॉन की एंट्री – मोटू पतलू कार्टून

लॉकेट को चुराने के लिए जॉन द डॉन मोटू पतलू घसीताराम और झटका का पीछा करने लगता है.जॉन से बचने के सब लोग एक मेले में चले जाते है.मेले में एक कमरा होता है जहा दो अजीब आईने लगे होते है.मोटू पतलू उन आईने के सामने खड़े हो जाते है.आईने में मोटू पतला दिखता है और पतलू मोटा दिखता है.मोटू पतलू समझ लेते है की दोनों सच में बदल गए है और दोनों रोने लगते है.मोटा दिखने की वजह से पतलू रोंने लगता है और पतला दिखने की वजह से मोटू रोने लगता है.

थोड़ी देर बाद उन्हें पता चल जाता है की यह सब आईने का कमाल है असल में दोनों सही सलामत है.तभी वहपर जॉन और गैंग आ जाती है.जॉन आईने में लंबा दिखता है और नंबर वन नंबर टू बौने हो जाते है. थोड़ी देर बाद उन्हें भी आईने के बारे में पता चल जाता है.फिर सब फिरसे भागने लगते है.भागते भागते मोटू और पतलू की जोड़ी एक झूले पर बैठ जाते है.जॉन और गैंग भी उनके पीछे झूले पर बैठ जाते है.

इंस्पेक्टर चिंगम की एंट्री – मोटू पतलू कार्टून

जॉन को पकड़ने के लिए घसीताराम इंस्पेकटर चिंगम को फोन करता है.चिंगम मेले में पोहंच जाता है.मोटू पतलू को बचाने के बजाय इंस्पेक्टर चिंगम खुद एक झूले पर फस जाता है.फिर इंस्पेक्टर चिंगम को बचाने के लिए मोटू और पतलू की जोड़ी खुद उस झूले में बैठ जाती है.अभी भी वष करने वाला लॉकेट उनके पास ही होता है.मोटू पतलू को झूले पर चढता देख जॉन झूला शुरू कर देता है.



झूला शुरू होते ही मोटू पतलू चिल्लाने लगते है.चिंगम भी चिल्लाने लगता है.तभी मोटू के हाथ से लॉकेट छुट जाता है और झूले पर अटक जाता है.लॉकेट को पकड़ने के लिए जॉन और उसकी गैंग झूले पर चढ़ जाती है.उनके पीछे पीछे घसीताराम और झटका भी झूले पर चढ़ जाते है.सब लोग झूले पर चढने की वजह से झूला टूट जाता है.सब लोग निचे गिर जाते है.

कहानी का अंत – मोटू पतलू कार्टून

निचे गिरने के बाद लॉकेट इंस्पेक्टर चिंगम के हाथ में आ जाता है.चिंगम डॉन की तरह लॉकेट करके अपना डायलोग बोलता है और जॉन वष हो जाता है.जॉन को लगता है की वो इंस्पेक्टर चिंगम है और बाकि सब चोर है.जॉन सबको गोली मारने लगता हे.जॉन से बचने के लिए सब लोग यहाँ वहा भागने लगते है और यही कहानी ख़त्म हो जाती है.

वीडियो देखिए – मोटू पतलू कार्टून 38 : मेला

मोटू पतलू कार्टून

Watch Video Now



Note:- All the images and videos use in this article are owned by their respected owner.We do not violate any law or copyright policy.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*