मोटू पतलू नाटक एपिसोड 45 – मोटू पतलू हवालदार

मोटू पतलू नाटक

मोटू पतलू नाटक एपिसोड 45 – मोटू पतलू हवालदार



मोटू पतलू नाटक में हम मोटू और पतलू की जोड़ी और मोटू पतलू हवालदार की कहानी पढ़ेंगे.साथ ही साथ हम मोटू पतलू फुल एचडी वीडियो भी देखेंगे.



नोट :- इस कहानी का वीडियो देखने के लिए पोस्ट के निचे “Watch Video Now” की बटन पर क्लीक कीजिए.वीडियो का आनंद लेने के लिए Chrome ब्राउज़र का इस्तेमाल करे !

कहानी की शुरुआत – मोटू पतलू नाटक

मोटू पतलू अपनी साइकिल में हवा भर रहे है.लेकिन पंप ख़राब होने की वजह से मोटू हवा नही भर पा रहा है.मोटू को बिना साथ लिए पतलू सायकल लेकर घूमने के लिए निकल जाता है.मोटू भी पतलू के पीछे भागता है और कूदकर साइकिल पर बैठ जाता है.मोटू के अचानक बैठ जाने से सायकिल का बैलेंस बिगड़ जाता है और दोनों निचे गिर जाते है.उतने में एक चोर वहा आ जाता है और उनकी सायकिल चुराके भाग जाता है.

तभी पिछेसे चिंगम की गाड़ी आती है.चिंगम उस चोर का पीछा कर रहा होता है.गाड़ी में उसके साथ कमिश्नर बलबलगंम भी है.कमीशनर बबलगम इंस्पेक्टर चिंगम का पिता है.चिंगम को मोटू पतलू मिल जाते है.वो उनसे चोर के बारे में पूछता है.मोटू पतलू उसे चोर के बारे में बताते है.चिंगम मोटू पतलू को गाड़ी में बैठने के लिए कहता है. दोनों गाड़ी में बैठने जाते है.लेकीन चिंगम पहले ही गाड़ी स्टार्ट कर देता है.बिचारे मोटू पतलू गाड़ी से लटक जाते है.

लटकने की वजह से गाड़ी का बैलेंस बिगड़ जाता है और गाड़ी एक गड्ढे में घुस जाती है और रुक जाती है.अचानक रुक जाने की वजह से पीछे लटक रहे मोटू.पतलू हवा में उड़ जाते है.कमिश्नर को लगता है की दोनों चोर को पकड़ने के लिए कूद गए है.कमिशनर मोटू पतलू की बहादुरी देखखुश हो जाता है.हवा में उड़ गए मोटू पतलू निचे चोर के ऊपर गिर जाते है.पिछेसे आकर चिंगम चोर को पकड़ लेता है.

मोटू पतलू हवालदार – मोटू पतलू नाटक

कमिशनर को लगता है की मोटू पतलू ने चोर को पकडा है.इसलिए कमिशनर मोटू पतलू को हवालदार बनाता है. मोटू पतलू हवालदार बन जाते है.उनके हवालदार बनते ही इंस्पेक्टर चिंगम छुट्टी लेकर अपने गांव चला जाता है.मोटू पतलू चोर को लेकर पुलिस स्टेशन चले जाते है.लेकिन तभी चोर रोने लगता है.चोर मोटू को बताता है की उसकी माँ बिमार है.वो चल नही सकती.उसे दवा की जरुरत है.मुझे एक घंटे के लिए छोड़ दो में उसे दवा देकर लौट आउंगा.

चोर को रोता देख मोटू भी रोने लगता है.उसे चोर पर तरस आता है.वो चोर को छोड़ देता है.उतने में वहा पर पतलू आता है.पतलू देखता है की जेल में तो चोर है ही नही.फिर मोटू पतलू से सारी बात बताता है.मोटू की बात सुनकर पतलू को पता चल जाता है की चोर ने मोटू को उल्लू बनाया है.दोनों चोर को ढूंढने के लिए बन्दुक लेकर निकलते है.इधर इंस्पेक्टर चिंगम अपने घर में इडली डोसा खा रहा होता है.कमिशनर मोटू पतलू पर विश्वास रखकर शहर में घूम रहा होता है.

कहानी का अंत – मोटू पतलू नाटक

चोर काफी होशियार है उसे पता चल जाता है की मोटू पतलू उसके पीछे पड़े है.इसलिए चोर अपना भेष बदल लेता है.वो इंस्पेक्टर चिंगम का भेष लेता है.तभी मोटू पतलू उसके पास पोहंच जाते है.दोनों चोर को पहचान नही पाते.चिंगम के भेष में चोर उन्हें बताता है की चोर ने कमिशनर का भेष बदला है और वो आगे भाग गया है. चिंगम की बात सुनकर मोटू पतलू कमिशनर के पीछे पड़ जाते है.

कमिशनर को कुछ समझ नही आता की आखिर मोटू पतलू उसके पीछे क्यों पड़े है.मोटू पतलू कमिशनर को गोलिया मारने लगते है.कमिशनर को मोटू पतलू नाटक बिलकुल पसंद नही अता. बड़ी भागादौड़ी के बाद फिर असली चोर मिल जाता है.चिंगम भी छुट्टी से वापस आ जाता है.मोटू पतलू नाटक की वजह से कमिशनर परेशान हो जाता है.कमिशनर मोटू पतलू नाटक की वजह से उन्हें नौकरी से निकाल देता है और कहानी ख़त्म हो जाती है.

वीडियो देखिए – मोटू पतलू नाटक एपिसोड 45 : मोटू पतलू हवालदार

मोटू पतलू नाटक

Watch Video Now



Note:- All the images and videos use in this article are owned by their respected owner.We do not violate any law or copyright policy.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*