मोटू मोटू पतलू कार्टून एपिसोड 53-परी का वरदान

मोटू मोटू पतलू कार्टून

मोटू मोटू पतलू कार्टून एपिसोड 53 – परी का वरदान



मोटू मोटू पतलू कार्टून में हम मोटू और पतलू की जोड़ी और परी के वरदान की कहानी पढ़ेंगे.साथ ही साथ हम मोटू पतलू फुल एचडी वीडियो भी देखेंगे.



नोट :- इस कहानी का वीडियो देखने के लिए पोस्ट के निचे “Watch Video Now” की बटन पर क्लीक कीजिए.वीडियो का आनंद लेने के लिए Chrome ब्राउज़र का इस्तेमाल करे !

कहानी की शुरुआत – मोटू मोटू पतलू कार्टून

सुबह का सुहाना वक़्त है.मोटू पतलू दोनों साइकिल पर सैर सपाटा लगा रहे है.सूरज की धुप में फूल पौधे खिल उठे है.पतलू साइकिल चला रहा है और मोटू पीछे बैठा हुआ है.मोटू पतलू से तेज साइकिल चलाने के लिए कहता है.पतलू कहता है की इतना भारी वजन पीछे बैठा है में और तेज सायकिल नही चला सकता हु.उतने में दोनो को “बचाओ बचाओ” की आवाज सुनाई देती है.दोनों पीछे मुड़कर देखते है तभी सामने से इंस्पेक्टर चिंगम अपनी गाड़ी में आता है.


यह भी पढ़िए :-


मोटू पतलू का सामने ध्यान नही होता और दोनों की साइकिल चिंगम की गाड़ी से टकरा जाती है.इंस्पेक्टर चिंगम गाड़ी से गिर जाता है.उसके ऊपर मोटू और पतलू गिरते है.चिंगम को बड़ा गुस्सा आता है.चिंगम का गुस्सा देखकर मोटू पतलू वहा से भाग जाते है.उन्हें भागता देख चिंगम कहता है कानून की कसम में तुम्हे छोड़ूंगा नही.चिंगम के चंगुल से भागकर मोटू पतलू एक पेड़ के पीछे छिप जाते है.तभी उन्हें बचाओ बचाओ की आवाज फिर सुनाई देती है.

मोटू पटलु को एक कौवा दिखता है.उसके मुँह में एक तितली होती है और बचाओ बचाओ चिल्लाती है.मोटू कौवे को पत्थर मारता है.पत्थर कौवे को लगता है और उसके मुँह से तितली छुट जाती है.मोटू पतलू तितली को बचाते है और एक पत्थर पर रख देते है.तभी तितली अपना बेष बदलती है और परी बन जाती है.परी मोटू पतलू को बताती है की वो परीलोक से तितली बनकर यहाँ आयी थी और कौवे ने उसे पकड़ लिया था.अब आप लोगो ने मुझे बचाया है इसलिए में आपक् तिन वरदान देती हु.

पहिला वरदान – मोटू मोटू पतलू कार्टून

वरदान की बात सुनकर मोटू पतलु खुश हो जाते है.मोटू परी से कहता है की मुझे समोसे बहोत पसंद है लेकिन चायवाला उधारी में समोसे नही देता.उसके समोसे मक्खियां भी फ्री में खा जाती है लेकिन मुझे वो खाने नही देता.मोटू की बात सुनकर परी मोटू को वरदान देती है की वो मक्खी बनकर फ्री में समोसे खा सकता है.परी एक मंत्र बोलती है और मोटू मक्खी बन जाता है.मक्खी बनकर मोटू समोसे खाने के लिए उड़ जाता है.पतलू को लगता है की मक्खी बनना बड़ा खतरनाक है इसलिए वो मोटू को रोकने की कोशिश करता है.

लेकिन मोटू नही रुकता.वो मक्खी में उड़ता उड़ता चायवाले के दुकान की तरफ चला जाता है.मोटू को रोकने के लिए पतलू उसके पीछे भागता है.रास्ते में इंस्पेक्टर चिंगम अपनी गाड़ी से जा रहा होता है और पतलू चिंगम से टकरा जाता है.पतलू के टकराने की वजह से चिंगम गाड़ी से गिर जाता है.चिंगम तो मोटू पतलू को ही ढूंढ रहा होता है.वो पतलू को गिरफ्तार कर लेता है और जेल में बंद कर देता है.इधर मोटू चायवाले के दुकान पर पोहंच जाता है और समोसे खाने लगता है.

दुसरा वरदान – मोटू मोटू पतलू कार्टून

चायवाला गरम गरम समोसे बनाता रहता है और मोटू मक्खी बनकर सब समोसे घपाघप खाता रहता है.चायवाले को समझ नही आता की समोसे कहा गायब हो रहे है.तभी उसकी नजर मक्खी बने मोटू के ऊपर जाती है.उसे पता चल जाता है की मोटू ही मक्खी बनकर समोसे खा रहा है.चायवाले को लगता हे की मोटू ने डॉक्टर झटका से कोई नया गैजेट माँगा है और उसी गैजेट की मदत से मोटू छोटा हो गया है.चायवाला मन ही मन मोटू को सबक सिखाने के बारे में सोचता है.

इधर पतलू को इंस्पेक्टर चिंगम ने जेल में डाल रखा है.पतलू चिंगम को बताता है की मोटू की जान खतरे में.लेकिन फिर भी चिंगम पतलू को जेल से नही छोडता. पतलू को समझ नही आता की अब क्या करना है. इसलिए वो परी से दुसरा वरदान माँगता है.वरदान में पतलू माँगता है की उसे भी मोटू की तरह मक्खी बना दो ताकि वो जेल से उड़कर छुट जाए.परी पतलू को वरदान देती है और पतलू मक्खी बन जाता है.मक्खी बनकर पतलू मोटू को ढूंढने लगता है.मोटू चायवाले के दुकान में समोसे खा रहा होता है.

तीसरा वरदान – मोटू मोटू पतलू कार्टून

पतलू देखता है की मोटू समोसे खा रहा है और चायवाले के हाथ में एक करंट वाली बैट है जिससे मच्छर मारे जाते है.मोटू को बचाने के लिए पतलू चायवाले के दुकान में चला जाता है और मोटू को बताता है की चायवाला उसे बैट से मारने वाला है.लेकिन मोटू पतलू की बात नही सुनता और समोसे खाने में लगा रहता हे.अब चायवाला भी बैट से मोटू पतलू की जमकर धुलाई करता है. चायवाला करंट वाली बैट से मोटू पतलू को करंट लगाता है.मोटू पतलू वहा से भागने लगते है.चायवाला भी उनके पीछे भागता है.

चायवाले से बचने के लिए मोटू पतलू एक पेड़ पे जाकर बैठते है.वहा मधुमक्खीयो का एक छत्ता होता है.मधुमक्खीयो को लगता है की मोटू पतलु उनका शहद चुराने आये है.इसलिए मधुमक्खीया मोटू पतलू पर हमला कर देती है.मोटू पतलू वहा से भी भागने लगते है.फिर भी मधुमक्खीया उनका पीछा नही छोड़ती.बहोत दूर जाने के बाद वो एक ट्रक में छिप जाते है.तब जाकर मधुमक्खियां उनका पीछा छोड़ देती है और वापस चली जाती है.मोटू पतलू को लगता है की मक्खी बनना कोई आसान काम नही है.इसलिए दोनों परी से तीसरा वरदान मांगते है.परी उन्हें वरदान दे देती है.वरदान मिलने से मोटू पतलू फिरसे इंसान बन जाते है और यही कहानी ख़त्म हो जाती है.

वीडियो देखिए – मोटू मोटू पतलू कार्टून एपिसोड 53 : परी का वरदान

मोटू मोटू पतलू कार्टून

Watch Video Now



Note:- All the images and videos use in this article are owned by their respected owner.We do not violate any law or copyright policy.

2 Comments

  1. I could not resist commenting. Exceptionally well written! Hi would you mind stating which blog
    platform you’re working with? I’m planning to start my own blog soon but
    I’m having a tough time making a decision between BlogEngine/Wordpress/B2evolution and Drupal.
    The reason I ask is because your design seems different then most blogs and I’m
    looking for something unique. P.S Apologies for being off-topic but
    I had to ask! It’s perfect time to make a few plans for the long run and it’s time to be
    happy. I’ve read this post and if I may I wish
    to counsel you few attention-grabbing things or tips.
    Perhaps you could write subsequent articles referring to this article.
    I want to read even more issues approximately it!
    http://dell.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*