motu patlu ki jodi dalo एपिसोड 31 : यमराज

motu patlu ki jodi dalo एपिसोड 31 : यमराज



motu patlu ki jodi dalo में हम मोटू और पतलू की जोड़ी और यमराज की कहानी पढ़ेंगे.साथ ही साथ हम मोटू पतलू फुल एचडी वीडियो भी देखेंगे.


नोट :- इस कहानी का वीडियो देखने के लिए पोस्ट के निचे “Watch Video Now” की बटन पर क्लीक कीजिए.वीडियो का आनंद लेने के लिए Chrome ब्राउज़र का इस्तेमाल करे !

कहानी की शुरुआत – motu patlu ki jodi dalo

मोटू पतलू अपने खेत में हल चला रहे है.मोटू पतलू से कहता हे की “यह खेती करना कितना आसान है.पता नही लोग खेती को मुश्किल क्यों कहते है.”मोटू की बात सुन पतलू भी उसके हा में हा मिला देता है.उतने में हल से बंधा बैल बौखला जाता है और हल छोड़कर भगाने लगता है.मोटू और पतलू की जोड़ी भी उसके पीछे भागते है.दोनों बैल की रस्सी पकड़ते है.लेकिन बैल रुकने का नाम नही लेता.बैल मोटू पतलू को घसीटकर लेकर जाता है.मोटू पतलू दोनों मदत के लिए चिल्लाते है लेकिन वहां कोई नही होता.


यह भी पढ़िए –


थोड़ी देर बाद बैल रुक जाता है.मोटू पतलू को हवा में उछाल देता है.मोटू पतलू हवा से धड़ाम कर निचे गिरते है.उनके सामने एक भैसा खड़ा होता है.मोटू को लगता है की वो मर गए है और यमराज का भैसा उन्हें लेने के लिए आया है.लेकिन पतलू बड़ा होशियार है वो मोटू को बताता है की जीते जी हमें यमराज का भैसा नही दिखता.हम जिंदा है और यह हमारा ही भैंसा है.फिर दोनों उठकर उस भैंसे पर बैठ जाते है.

यमराज की एंट्री – motu patlu ki jodi dalo

इधर यमलोक में यमराज और चित्रगुप्त बाते कर रहे है.चित्रगुप्त यमराज को बताता है की पतलू का समय हो गया है.हमें उसे लेकर आना होगा.तभी यमराज का भैसा चित्रगुप्त के लैपटॉप पर पूछ मारता है.चित्रगुप्त का लैपटॉप निचे मोटू के सर पर गिरता हे.मोटू को लगता है की लैपटॉप किसी हवाईजहाज से गिरा है.वो लैपटॉप खोलकर देखता है.उसे पता चलता है की पतलू अब कुछ ही पलो का मेहमान है.यमराज उसे लेने के लिए आ रहा है.

तभी यमराज चित्रगुप्त और भैसा बादल पर बैठकर निचे उतरते है.मोटू पतलू यमराज के भैंसे को समोसे खिलाते है और उसपर बैठकर भाग जाते है.उनके पास चित्रगुप्त का लैपटॉप होता है.मोटू पतलू को लैपटॉप लेकर भागते हुए यमराज और चित्रगुप्त देख लेते है.वो भी एक इंसान की साइकिल पर बैठकर मोटू पतलू का पीछा करते है.यमराज और चित्रगुप्त किसी भी हालात में लैपटॉप को हासिल करना चाहते है.

डॉक्टर झटका की एंट्री – motu patlu ki jodi dalo

यमराज से भागकर मोटू पतलू डॉक्टर झटका के पास पोहंच जाते है.मोटू झटका को सब कहानी बताता है.मोटू की बात सुन डॉक्टर झटका पतलू से कहता है,”ओये पतलू प्रा तुम टेंशन मत लो मेरे होते हुए तुम्हे कोई हाथ नही लगा सकता.”डॉक्टर झटका बोल ही रहा होता है की वहा चित्रगुप्त और यमराज पोहंच जाता है.डॉक्टर झटका की बाटे सुनकर यमराज को बड़ा गुस्सा आता है.यमराज झटका को हवा में उछाल देता है.असली यमराज को देख डॉक्टर झटका घबरा जाता है.वो यमराज से माफ़ी माँगने लगाता है.तभी मोटू और पटलु वहा से भी भाग जाते है.

मोटू पतलू को पकड़ने के लिए यमराज और चित्रगुप्त भी उनके पीछे भागते है.रास्ते में यमराज को चायवाला मिल जाता है.चायवाला यमराज को मोटू और चित्रगुप्त को पतलू समझ लेता है.चायवाला यमराज और चित्रगुप्त की मुछे खिचता है.यमराज को चायवाले पर बड़ा गुस्सा आता है.यमराज चायवाले को फुक मारकर दूर उड़ा देता है और फिर मोटू पतलू के पीछे लग जाता है.

इंस्पेक्टर चिंगम की एंट्री – motu patlu ki jodi dalo

यमराज के भैंसे पर बैठ मोटू पतलू भाग रहे होते है.तभी इंस्पेक्टर चिंगम की नजर उनपर पड़ जाती है.चिंगम मोटू पतलू से सवाल पूछने लगता है.मोटू उसे समझाते है की पतलू की जान खतरे में है.इसलिए हम भाग रहे है. लेकिन इंस्पेक्टर चिंगम को कुछ समझ नही आता.चिंगम के सवालो से परेशांन मोटू पतलू आगे निकल जाते है.चिंगम पीछे पड़ जाता है तभी पीछे से आ रहे यमराज और चित्रगुप्त से उसकी मुलाकात हो जाती है.

इंस्पेक्टर चिंगम यमराज और चित्रगुप्त को परेशांन करने लगता है.यमराज भी चिंगम के सवालो से परेशान हो जाता है.यमराज चिंगम को हवा में उछाल देता है.मोटू पतलू भी यमराज के भैंसे के साथ हवा में उड़ने लगाते है.यमराज और चित्रगुप्त भी साइकिल पर बैठ हवा में उड़ते है.थोड़ी देर हवा में उड़ने के बाद यमराज मोटू पतलू को निचे ले आता है.चिंगम और चित्रगुप्त भी निचे आ जाते है.

द एन्ड – motu patlu ki jodi dalo

जमींन पर उतरने के बाद यमराज मोटू से लैपटॉप माँगता है.मोटू कहता है की अगर तुम पतलू को जीवनदान दोगे तो में लैपटॉप दूंगा.वरना इसे डिलीट कर दूंगा.लैपटॉप को डिलिट करने की बात सुन यमराज और चित्रगुप्त डर जाते है.फिर चित्रगुप्त मोटू से कहता है की ठीक है हम पतलू को जीवनदान देते है लेकिन पतलू के बदले तुम्हे हमारे साथ चलना होगा.मोटू तैयार हो जाता है.

मोटू को यमराज के साथ जाता देख पतलू दुखी हो जाता है.पतलू यमराज से कहता है मेरे बदले मोटू को मत ले जाओ.में तुम्हारे साथ चलने को तैयार हु.मोटू और पतलू के बिच दोस्ती देखकर यमराज खुश हो जाता है और पतलू को जीवनदान देता है.पतलू को जीवनदान मिलने से मोटू पतलू खुश हो जाते है.उन्हें खुश देखकर यमराज,चित्रगुप्त अपने भैंसे पर बैठ वहा से चले जाते है और यही कहानी ख़त्म हो जाती है.

वीडियो देखिए – motu patlu ki jodi dalo एपिसोड 31 : यमराज

motu patlu ki jodi dalo



Note:- All the images and videos use in this article are owned by their respected owner.We do not violate any law or copyright policy.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*